अमेज़न क्विज खेले और जीते Dyson Air Purifier

Bank Merger – सैलरी या Pension अकाउंट है तो जाने कैसे नहीं फंसेगा आपका पैसा

केंद्र सरकार Bank Merger – बैंक मर्जर करने जा रही है जिसमे सैलरी या Pension अकाउंट भी है. बैंक मर्जर के दौरान आपकी होम ब्रांच और बैंक अकाउंट नंबर भी बदल सकते हैं, जिसका आपकी सैलरी और पेंशन अकाउंट पर भी प्रभाव हो सकता है और आपको कई परेशानिओ का सामना करना पड़ सकता है .आइए इस आर्टिकल मे हम जानेगे, की कैसे बैंक मर्जर में नहीं फंसेगा आपका पैसा।

जैसा की आप सभी जानते ही हैं की केंद्र सरकार ने 10 सरकारी बैंकों का विलय (Bank Merger) शुरू कर दिया है. इन बैंकों में सेविंग अकाउंट के साथ-साथ सैलरी और पेंशन (Pension) वाले खाते भी हैं.

जरूर पढ़े: एंड्रॉइड स्मार्टफोन की मदद से अपना गूगल अकाउंट सुरक्षित कैसे करें

केंद्र सरकार का बैंक मर्जर – Bank Merger

केंद्र सरकार ने 10 सरकारी बैंकों का विलय (Bank Merger) शुरू कर दिया है. इन बैंकों में सेविंग अकाउंट के साथ-साथ सैलरी और पेंशन (Pension) वाले खाते भी हैं. बैंक मर्जर में यह संभव है कि आपकी होम ब्रांच (Home Branch), बैंक अकाउंट नंबर और अन्‍य चीजें बदल जाएं. अगर बैंक अकाउंट नंबर बदलेगा तो फिर ATM कार्ड और चेक बुक भी दूसरी लेनी पड़ेगी. यानि आपकी पूरी बैंकिंग बदल जाएगी. साथ ही KYC भी दोबारा कराने की नौबत आ सकती है. इससे मुमकिन है कि समय पर आपकी सैलरी या Pension आपके खाते में सही समय पर न ट्रांसफर हो पाए.

Bank Merger

ग्राहक SMS या ईमेल सूचना

इस परेशानी से बचने का आसान सा उपाय यह है कि आप अपनी होम ब्रांच में तुरंत जाकर जरूरी अपडेट लेते रहें. बैंक मैनेजर से मिलकर आप अपनी किसी भी शंका को दूर कर सकते हैं. RBI के नियम के मुताबिक बैंकों को किसी भी चेंज को लागु करने से पहले ग्राहक को हर सूचना पास करनी होती है, सूचना चाहे SMS या ईमेल दोनों के जरिए क्‍यों न हो. इसलिए अगर आपको बैंक से ऐसा कोई मैसेज मिले तो तुरंत संपर्क करें और जो भी जरूरी कागजात मांगें जाएं उन्‍हें उपलब्‍ध करा दें.

जरूर पढ़े: Facebook नोटिफिकेशन्स को बंद करने के लिए अपनाएं ये आसान तरीके

KYC अपडेट

ऐसा करने से आपकी KYC के साथ-साथ बैंक अकाउंट अपडेट हो जाएगा. साथ ही अगर आपकी होम ब्रान्‍च बदली है तो उसका भी पता चल जाएगा. अगर आपका बैंक अकाउंट अपडेट रहेगा तो आपको बैंक ATM, चेक बुक, पास बुक सभी मिल जाएंगे.

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कई बैंकों के आपस में विलय की घोषणा की. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala sitharaman) ने कहा कि यूनाइटेड बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और पंजाब नेशनल बैंक का विलय होगा.

इसके साथ ही केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक का भी आपस में विलय किया जाएगा. वहीं, यूनियन बैंक, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का भी विलय किय़ा जाएगा. इंडिय़न बैंक और इलाहाबाद बैंक का भी आपस में विलय होगा.

जरूर पढ़े: क्या आपका फोन नंबर ब्लॉक है – Blocked Your Number? ऐसे जानें

केंद्र सरकार के इस बड़े ऐलान के साथ ही अब देश में सरकारी बैंकों की संख्या घटकर 12 रह जाएगी. वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने जो फ़ैसले लिए थे, उन पर अमल की शुरुआत हो गई है. बैंक और NBFC के 4 टाइअप हुए हैं.

पीएनबी, ओबीसी और यूनाइटेड बैंक के विलय से ये देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बनेगा. पीएनबी, ओबीसी और यूनाइटेड बैंक के विलय से बनने वाले बैंक के पास 17.95 लाख करोड़ रुपये का कारोबार होगा और उसकी 11,437 शाखाएं होंगी.

कैनरा बैंक और सिंडीकेट बैंक का विलय होगा और इससे 15.20 लाख करोड़ रुपये के कारोबार के साथ यह चौथा सबसे बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक बनेगा. वहीं, यूनियन बैंक, आंध्रा बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक के विलय से यह देश का 5वां बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक बनेगा.

इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक के विलय से 8.08 लाख करोड़ रुपये के कारोबार के साथ यह सार्वजनिक क्षेत्र का 7वां बड़ा बैंक बन जाएगा.

जरूर पढ़े: Amazon Sanyo Quiz उत्तर देकर जीतें Sanyo 43′ 4K TV (7 विजेता)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस दौरान बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि पब्लिक सेक्टर बैंक अब चीफ रिस्क ऑफिसर की भी नियुक्ति कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि बैंकों के आपस में विलय के साथ ही उनका मुनाफा भी बढ़ेंगा.

सैलरी वाले क्‍या करें ?

प्राइवेट हो या सरकारी, सभी विभागों की सैलरी बैंक अकाउंट में आती है. सैलरी अकाउंट वालों को ज्‍यादा परेशानी इसलिए नहीं होगी क्‍योंकि इसमें उनका डिपार्टमेंट का अकाउंट विभाग भी मदद करेगा.

पेंशनर क्‍या करें ?

पेंशनर को इसमें ज्‍यादा सावधानी उठाने की जरूरत है. उन्‍हें पहले से ही बैंक से टच में रहना पड़ेगा. क्‍योंकि बैंक में उनकी जानकारी अपडेट होने के साथ-साथ उसे ट्रेजरी या पेंशन विभाग में भी अपडेट कराना होगा. तभी पेंशन समय पर बनेगी और बैंक में ट्रांसफर होगी.

जरूर पढ़े: एंड्रॉइड स्मार्टफोन की मदद से अपना गूगल अकाउंट सुरक्षित कैसे करें

एजी ऑफिस ब्रदरहुड के पूर्व अध्‍यक्ष एचएस तिवारी के मुताबिक पेंशनर को बैंक बदलने पर दिक्‍कत हो सकती है. क्‍योंकि ये सभी सरकारी बैंक हैं और ज्‍यादातर पेंशनरों और सरकारी कर्मचारियों के अकाउंट इन्‍हीं बैंकों में हैं. हालांकि बैंक उन्‍हें अपडेट करेंगे लेकिन पेंशनर खुद ही अपडेट लें तो अच्‍छा रहेगा.

GET MORE STUFF LIKE THIS IN YOUR INBOX

Subscribe and get updates direct in your email inbox.


We respect your privacy.