अमेज़न क्विज खेले और जीते Samsung Galaxy M21 | Gold Rate Today

Zoom Update – जूम में आया सिक्योरिटी का नया फीचर, जानिए कैसे करें एक्टिवेट

महामारी की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग की जरूरत को देखते हुए Zoom जैसे वीडियो मीटिंग एप का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है। प्लेटफॉर्म पर लगातार बढ़ती यूजर्स की संख्या को देखते हुए ऐप अब सुरक्षा पर ज्यादा फोकस कर रहे हैं, इसे ही देखते हुए zoom ने अतिरिक्त सुरक्षा के लिए टू-फैक्टर ऑथेंटकेशन ( Two-Factor Authentication) को शामिल किया है। कंपनी ने कहा है कि नए फीचर के बाद एप का इस्तेमाल और सुरक्षित होगा और ग्राहकों की कीमती जानकारियों और सूचनाओं को और सुरक्षा मिलेगी। इससे जानकारियां चुराने की कोशिशों पर रोक लगाने में भी मदद मिलेगी।

जरूर पढ़े: आप कहाँ और कितना समय बिताया, गूगल लोकेशन हिस्ट्री पर ऐसे देखें

इसे कई बार टू स्टेप वेरिफिकेशन या ड्यूल फैक्टर ऑथेंटकेशन भी कहते हैं। ये अतिरिक्त सुरक्षा के लिए दिया जाने वाला फीचर होता है, जिसमें यूजर खुद की पहचान करने के लिए 2 अलग अलग ऑथेंटकेशन फैक्टर या प्रूफ देता है। इससे अतिरिक्त सुरक्षा मिलती है, क्योंकि सिर्फ एक फैक्टर या पासवर्ड जानकर कोई दूसरा यूजर की जगह नहीं ले सकता। आमतौर पर पैसों के ट्रांजेक्शन के लिए पासवर्ड के साथ ओटीपी भी ग्राहक के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है जिससे सुरक्षा और बढ़ जाती है।

Zoom Update – जूम में आया नया सिक्योरिटी फीचर

क्लाउड बेस्ड वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सर्विस जूम ने यूजर्स के लिए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन (2FA) रोल आउट किया है। जूम ऑथेंटिकेशन ऐप्स टाइम-बेस्ट वन-टाइम पासवर्ड (TOTP) प्रोटोकॉल जैसे गूगल ऑथेंटिकेटर, माइक्रोसॉफ्ट ऑथेंटिकेटर और फ्री ओटीपी को सपोर्ट करेगा। साथ ही, अकाउंट ऑथेंटिकेशन SMS या फोन कॉल-बेस्ड कोड से होगा। कंपनी का कहना है कि इस कदम से वो अपने प्लेटफॉर्म और यूजर्स के अकाउंट भी सिक्योर बना पाएंगे।

Zoom Security App

सिक्योरिटी के लिए कई उपाय लागू किए कंपनी ने दावा किया है कि 1 जुलाई, 2020 से 90 दिनों की फ्रीज पीरियड सुविधा के तहत 100 से अधिक प्राइवेसी और सिक्योरिटी उपायों को लागू किया गया है। इसमें यूजर्स की आंखों की सेफ्टी के लिए एन्हांस्ड एन्क्रिप्शन (जूम 5.0) भी शामिल है।

जरूर पढ़े: Facebook Dark Mode फेसबुक बदला, डेस्कटॉप पर डार्क मोड में आया बहुत कुछ

जूम ने हाल ही में अपने एन्क्रिप्शन को मानक एईएस 256-बिट जीसीएम में अपग्रेड किया है, इससे पिछले AES-256 EC मानक पर सुधार हुआ है। जीसीएम एन्क्रिप्शन अब सभी मीटिंग के लिए पूरी तरह से सक्षम है। जूम आने वाले दिनों में सभी यूजर्स के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन लाने के लिए भी काम कर रहा है।

Zoom में क्या है टू-फैक्टर ऑथेंटकेशन

zoom में 2FA एनेबल करने के लिए पासवर्ड के साथ साथ दूसरे प्रूफ भी देने होंगे, इसमें पिन ओटीपी भी शामिल हैं। इसमें यूजर के पास कई विकल्प मौजूद हैं, जिसमें ऑथेंटकेशन एप्स शामिल हैं जो टाइम बेस्ड वन टाइम पासवर्ड (Time-Based OTP) सपोर्ट देते हैं। इसके अलावा प्रोटोकॉल जैसे गूगल ऑथेंटकेटर, माइक्रोसॉफ्ट ऑथेटकेटर की मदद ले सकते हैं। इसके अलावा दूसरे सुरक्षा फैक्टर के लिए Zoom खुद मोबाइल के जरिए एक कोड भेज सकता है।

Zoom Update – 2FA अप्लाई करने की सेटिंग

जूम अपडेट /यूजर्स की सिक्योरिटी के लिए कंपनी ने शुरू किया टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन, इसे ऑन करने इस सेटिंग को करें फॉलो

सिक्योरिटी सेटिंग्स में साइन इन विद टू फैक्टर ऑथेंटकेशन का ऑप्शन मिलेगा। यहां जाकर आप सभी यूजर्स के लिए Enable 2FA का ऑप्शन चुन सकते हैं। अकाउंट लेवल पर जूम 2FA को सक्षम करना एक सीधी प्रक्रिया है। अकाउंट एडमिन को जूम डैशबोर्ड में साइन-इन करने की आवश्यकता है, और नेविगेशन मेनू में सिक्योरिटी टैब के तहत टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन ऑप्शन के साथ साइन की जांच करें।

जरूर पढ़े: टेक टिप्स / स्पैम कॉल्स से परेशान हैं, तो ये उपाय अपनाए – Spam calls

यहां से वे अकाउंट में सभी यूजर्स के लिए स्पेसिफिक यूजर्स या स्पेसिफिक ग्रुप से संबंधित यूजर्स के लिए 2FA सक्षम करने का विकल्प चुन सकते हैं।

आखिर में उन्हें अपनी 2FA सेटिंग्स की कन्फर्म करने के लिए सेव पर क्लिक करना होगा। एक बार कन्फर्म होने के बाद यूजर्स को जूम पोर्टल में साइन इन करने पर 2FA सेट करना होगा।

जूम अपडेट, सेफ्टी, ऐप,

GET MORE STUFF LIKE THIS IN YOUR INBOX

Subscribe and get updates direct in your email inbox.


We respect your privacy.